जैजैपुर पुलिस के संरक्षण में सक्रिय है चोर और अवैध शराब कारोबारियों कराने का लगाया आरोप

जैजैपुर पुलिस के संरक्षण में सक्रिय है चोर और अवैध शराब कारोबारियों कराने का लगाया आरोप

विधायक घर की चोरी सात दिन बाद भी पुलिस को नही मिला सुराग

विधानसभा विधायक दल के नेता और बसपा विधायक जैजैपुर के सुने घर मे चोरी का मामला विधानसभा के सदन में गूंजा मामला

रात भर दो टीमो की गस्त फिर भी तेज तर्रार नेता के घर चोरी


जैजैपुर। शहर में चोरों की वारदातें शवाब पर हैं आए दिन कहीं ना कहीं चोरी हो रही है लगता है जैसे अंधेरी रातों में सुनसान राहों पर यह शातिर चोर किसी शहंशाह की तरह निकल रहे हैं। चोरी के लिए औजार हाथ में लिए ताले तोड़े और निकल गए लाखों का माल लेकर जैजैपुर थाना क्षेत्र में भी इनकी सक्रियता बढ़ती जा रही है। रही बात पुलिस की तो हर वारदात के बाद एक ही काम पुलिस टीम, एफएसएल टीम और डाग स्क्वाड द्वारा जांच। हां सूने मकानों को निशाना बनाने के कारण पुलिस को इतनी सुविधा मिल गई है कि लाखों की चोरी को कमतर आक लिया जाए।पिछले एक वर्ष से चोरी होने का ग्राफ थमता नहीं दिख रहा है। क्या चोरों का यह पुलिस को खुल्लम खुल्ला चैलेंज है कि अपराध तो हम करेंगे, रोक सको तो रोक लो। बीते तकरीबन छह माह की यदि चोरी की वारदातों की यह फेहरिस्त लगातार बढ़ती जा रही है। जैजैपुर क्षेत्र में चोरी का सिलसिला बदस्तूर जारी है। यह बात भी जरूरी नही है कि सभी चोरियां सुने आवास में ही हो रही हो खुले आम बाजार में चोर अपना काम बखूवी से कर रहे हैं। वर्तमान थाना प्रभारी को भी लगभग जैजैपुर में पदस्थ हुए एक साल हो चुके हैं लेकिन उनके सामने जो चुनौती थी वह रोकने में वह सफल नहीं हो सके और लगातार ही चोरी, चाकूबाजी, छेड़छाड़, ठगी आदि की घटनाएं लगातार ही जैजैपुर क्षेत्र में बढ़ती जा रही हैं। चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने में भी पुलिस पूर्णरूपेण असफल साबित हो रही है।


चोर और अवैध शराब कोचियों को जैजैपुर पुलिस की संरक्षण का आरोप

विशेष सूत्रों से जानकारी के अनुसार भोथिया का एक महिला के द्वारा 6 लीटर अवैध शराब की कारोबारी जैजैपुर ने पकड़ा था लेकिन उसके खिलाफ अपराध दर्ज करने के बजाए 25000 रुपये लेकर छोड़ दिया गया यही नही खरवानी बेलादुला के एक युवक को चोरी के मामला या अवैध शराब के एवज में भी पकड़ा था लेकिन उसको भी अपराध दर्ज करने के बजाए उनसे भी 25000 हजार रुपये लेकर छोड़ दिया गया यही नही भोथिया के एक विकलांग सचिव के घर कुछ तार की चोरी का रिपोर्ट लिखाने थाना आये हुए थे उनके भी रिपोर्ट दर्ज नही किया और न ही उनके आवेदन का पावती देना उचित नही समझे जी हां इसी में अंदाजा लगाया जा सकता है की जैजैपुर में शराब के अवैध कारोबारी और चोरों को बढ़ावा देना पुलिस की संरक्षण है कि नही इससे अपराधियों को मनोबल बढ़ा हुआ है यही नही एक तथाकथित एक थाना प्रभारी ने पत्रकारों से बहस करने लग गए यही नही यह भी बोल दिए कि पत्रकार और नेताओं के संरक्षण से क्षेत्र में चोरी होता है यह बोलना शोभनीय है क्या जब मामला को बढ़ते जैजैपुर थाना प्रभारी ने देखा तो थाना प्रभारी को बुलाया उसके बाद क्या हुआ फिर वापस आया और प्रेम से बात करने लग गया यही नही एक गुचकुलिया के सरकारी कर्मचारी लड़ाई झगड़ा का रिपोर्ट लिखाने आया उसको भी आक्रोश में जैजैपुर थाना प्रभारी दो तमाचे मार दिया बरहाल मामला जो भी रहा होगा कर्मचारी अपने पीड़ा को लेकर थाना पहुचे थे यह कर्मचारी अपने गांव मे भी मार खाया हुआ रहा होगा और न्याय पाने थाना आया यहां भी मार खा गया यही नही हाई स्कूल मुरलीडीह के हाई स्कूल में कम्प्यूटर चोरी का रिपोर्ट दर्ज थाना में प्राचार्य मधुसूदन साहू के द्वारा किया गया था जिसमे दो नाबालिक युवक एवं एक बालिक चोरी के अपराध कबूल किये लेकिन जैजैपुर पुलिस ने बालिक चोर के पिता के नाम तक प्रेस विज्ञप्ति में उचित नही समझा क्योंकि वह बालिक चोर एक कांग्रेस पदाधिकारी के लड़का है यही पुलिस की ड्यूटी है क्या जो समझ से परे हुए है जिले के तेज तर्रार कहे जाने वाले पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल लगातार कानून व्यवस्था बनाने में एड़ी चोटी एक कर रहे है लेकिन फूल फार्म में निरीक्षक नही होने के कारण थाना से कब छुट्टी हो जाये जिसके कारण जब तक थाना का कमान मिला है कुछ कमा ले रहे है उप निरीक्षक को डर सताने लग गए है कभी भी तबादला की आदेश आने की एक संभावना खुद से जताया जा रहे है

बसपा कार्यकर्त्ता ने रैली निकाल कर जैजैपुर में निरीक्षक पदस्थ करने का एसपी के नाम पर थाना प्रभारी को सौंपा ज्ञापन

आपको बता दे कि विधायक केशव चन्द्रा के घर मे चोरी का मामला तूल पकड़ रहा है बसपा कार्यकर्त्ता आक्रोश में आकर जैजैपुर थाना का घेराव करते हुए एसपी के नाम पर थाना प्रभारी को ज्ञापन दिया गया जिसमें लिखा है बहूत जल्द चोर को पकड़े अन्यथा उग्र आंदोलन किया जाएगा और भी लिखा गया है बहुत दिनों से अनेको पद जैजैपुर में रिक्त है रिक्त पद के आधार पर पुलिस की नियुक्ति भी किया जाए वरना उग्र आंदोलन के लिए तैयार रहे

जैजैपुर थाना अंतर्गत 49 गांव पुलिस बल नाम की फिर भी अधिकारी अंजान

आपको बता दे कि जैजैपुर थाना अंर्तगत 49 गांव है यहां पुलिस बल नाम की है जिसके कारण कम बल होने के कारण 49 गांवों में पुलिस कवरेज कर नही पाती जिसके कारण क्राइम थमने का नाम नही ले रहा है हमेशा पुलिस बल की कमी बताया जाता है और दस वर्षो बाद आज पर्यन्त तक पुलिस बल जरूरत की हिसाब से पदस्थ नही किये है जैजैपुर पुलिस को हमेशा बहाना मिल जाती है कि हमेशा पास पुलिस बल की कमी है लेकिन पुलिस बल की कमी होते हुए भी थाना प्रभारी अपने क्षेत्र अंतर्गत में चोरी की ग्राफ को कमी कर पाने में असक्षम नजर आ रहे है दबे जुबान से पुलिस कहते है कि कोई जैजैपुर थाना नही जाना चाहते अगर जिस पुलिस कर्मचारियों को नौकरी करना होगा वह उच्च अधिकारी के आदेश का पालन करना ही पड़ेगा इस विषय पर पुलिस अधीक्षक को संज्ञान में लेने की आवश्यकता है

इनका कहना है

चोरी की घटना हुई है दिन रात हमारे टीम मेहनत कर रही है पत्रकारों को भी सहयोग करना चाहिए सहयोग करने के बजाय हमारे मन को पुलिस के खिलाफ खबर लिखते है जिससे हमारा मन टूट जाता है
नवीन पटेल
थाना प्रभारी
अड़भार एवं विधायक घर के चोरी जाँच टीम
जैजैपुर


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *