रायपुर SSP ने थानेदार को किया लाइन अटैच, रेत घाट में अवैध खनन के दौरान एक मजदूर की हुई थी मौत

रायपुर SSP ने थानेदार को किया लाइन अटैच, रेत घाट में अवैध खनन के दौरान एक मजदूर की हुई थी मौत

रायपुर: राजधानी रायपुर के SSP संतोष कुमार सिंह ने गोबरा नवापारा थाना प्रभारी अवध राम साहू को लाइन अटैच कर दिया है। SSP ने ये एक्शन काम में उदासीनता और लापरवाही बरतने ने को लेकर लिया है। हालांकि चर्चा ये है कि बीते दिनों पारागांव रेत खदान में एक मजदूर की अवैध तरीके से रेत चोरी के दौरान मौत हो गई थी। इस मामले में थानेदार आरोपियों के खिलाफ जांच में ढिलाई बरत रहा था। जिससे गांव वालों में नाराजगी थी।

टीआई अवध राम साहू लोकसभा चुनाव के ठीक पहले ही रक्षित आरक्षी केंद्र से गोबरा नवापारा थाना के प्रभारी नियुक्त किए गए थे। कुछ ही महीनों बाद उन्हें वापस लाइन अटैच कर दिया गया है।

दरअसल रायपुर के नवापारा, अभनपुर, राजिम के कई नदी तट के इलाकों में अवैध तरीके से रेत खनन के मामले सामने आते रहते हैं। गुरुवार रात डेढ़ बजे के करीब पुलिस को सूचना मिली कि CHC केंद्र गोबरा नवापारा में एक शव लाया गया है। जिसमें एक व्यक्ति की गंभीर चोट लगने से मौत हो गई है।

इस मामले में गोबरा नवापारा थाना में घटना के 36 घन्टे बाद मृतक के परिजनों और गांव वालों विरोध के बाद FIR दर्ज की गई। इस मामले में अभनपुर SDM रवि सिंह ने परिजनों को मुआवजा राशि और ठोस कार्यवाई का आश्वासन दिया था।

पुलिस के जारी बयान के मुताबिक, मृतक की पहचान घोट गांव के रहने वाले राजेश यादव के तौर पर हुई। मृतक को 12 जून की रात को अवैध रेत खनन में शामिल आरोपी जयवर्धन बघेल ने काम के लिए बुलाया था। आरोपी जब पारागांव रेत खदान से रेत की खुदाई कर रहे थे, इस दौरान जेसीबी मशीन में दबकर राजेश यादव के कमर में गंभीर चोट आई थी। जिससे उसकी दिल की धड़कन रुक गई और मौत हो गई।

3 आरोपी गिरफ्तार

इस मामले में गोबरा नवापारा थाना की टीम ने खनिज विभाग के पत्र और घटनास्थल की जांच पड़ताल कर 6 व्यक्तियों को आरोपी बनाया। ये सभी आरोपी अवैध तरीके से अंधेरे में रेत की चोरी कर रहे थे। तभी ये हादसा हुआ।

फिलहाल पुलिस ने इस मामले में जयवर्धन बघेल, निलेश सिंह राजपूत, विमलेश द्विवेदी को गिरफ्तार किया है। इस मामले में तीन अन्य आरोपी मुकेश ढिढी, अंकित तिवारी और अज्जू फरार है। पुलिस के मुताबिक, मुकेश ढिढी इस पूरे कांड का मास्टरमाइंड है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *