छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन की अनिश्चतकालीन हड़ताल को मिला नक्सलियों का समर्थन…

छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन की अनिश्चतकालीन हड़ताल को मिला नक्सलियों का समर्थन…

 20 AUGUST 2022 दंतेवाड़ा :  छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन अपने विभिन्न मांगों को लेकर 22 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहा है. कर्मचारियों-अधिकारियों के आंदोलन का नक्सलियों ने समर्थन किया है. सीपीआई-एम दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी ने बाकायदा प्रेस नोट जारी कर हड़ताल का समर्थन करते हुए आम जनता से भी समर्थन करने की अपील की है.

दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के प्रवक्ता विकल्प की ओर से जारी किए गए प्रेस नोट में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ कर्मचारी – अधिकारी फेडरेशन की ओर से अपनी जायज मांगों के लिए आगामी 22 अगस्त से प्रस्तावित अनिश्चितकालीन हड़ताल का हमारी कमेटी दिल से समर्थन करती है, और मांगों को मानने तक हड़ताल को समाप्त न करने, आंदोलन को जारी रखने का आह्वान करती है. राज्य के सभी कर्मचारियों, अधिकारियों, शिक्षकों से आह्वान है कि उक्त अनिश्चितकालीन हड़ताल में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले. इसके साथ ही राज्य के तमाम मजदूर संगठनों, किसान संगठनों, जनता एवं जनवादियों, मानवाधिकार संगठनों से उक्त हड़ताल को सफल बनाने में यथासंभव मदद करने की अपील की गई है.

प्रेस नोट में फेडरेशन से आह्वान किया गया कि वह हड़ताल को तोड़ने, हड़तालियों को दिग्भ्रमित करने, नेताओं में फूट डालने, लालच देने, नौकरी से बर्खास्त करने की धमकी देने की सरकारी कोशिशों को नाकाम करें और हड़तालियों का हौसला बुलंद रखे. जोनल कमेटी आप लोगों की मांगों को जायज ठहराती है. समान काम के लिए समान वेतन के उसूल के अनुसार भी केंद्रीय कर्मचारियों के समान महंगाई भत्ते की मांग न्यायसम्मत है. केंद्र, राज्य सरकारें चूंकि देशी, विदेशी कारपोरेट घरानों एवं साम्राज्यवादी वित्तीय संस्थाओं जैसे आइएमएफ और विश्व बैंक के हित में एवं उनकी शर्तों पर ही सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों के वेतन-भत्तों का निर्धारण कर रही हैं, इसलिए देशी, विदेशी कारपोरेट घरानों सहित साम्राज्यवादी वित्तीय संस्थाओं, केंद्र की ब्राह्मणीय हिंदुत्व फांसीवादी भाजपा सरकार को अपने आंदोलन का निशाना बनाए.

 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

en_USEnglish